AIGDSU hunger strike in all over india ! Pratapgarh

AIGDSU hunger strike in all over india ! Pratapgarh







पूर्ब में निराध्रित केन्द्रीय कमिटी के आवाहन पर एक दिव्शीय भूख हड़ताल प्रांतीय कार्यलय पर अखिल भारतीय ग्रामीण डाक सेवक संघ द्वारा धरने को संबोधित करते हुए ग्रामीण डाक सेवाव्को के वाजिब मांग को अबिलम्ब पूरा करने के लिए केंद्र सरकार से पुन्हा अनुरोध किया गया है तथा ग्रामीण डाक सेवक साथियो से अपनी पीड़ा के क्रम में कार्य की अधिकता को देखते हुए वाजिब हक़ पाने के लिए कमर कसके अगली रणनीति के लिए तैयार होना पड़ेगा

क्योकि अंग्रेजी सासन काल में अंग्रेजो द्वारा जो कानून नहीं बनाया गया आजाद भारत में काले अंग्रेजो द्वारा कठोर कानों बना करके ग्रामीण डाक सेवको को लोकतान्त्रिक अधिकारों से वंचित किया गया है कहने के लिए सेवक कहा जाता है

किन्तु कर्मचारियों से भी बड़ा कानून का डंडा इनके उपर चलाया जाता है ये ग्राम पंचायत के एक सदस्य का चुनाव नहीं लड़ सकते वन्ही कर्मचारियों के लिए चुनाव लड़ने की छुट है और किसी भी प्रकार की सुबिधा ऑफिस चलने की लिए इनको नहीं दी जाती है सरकार के प्रतेक फरमान को ये सेवक बखूबी अंजाम देने का कम करते है
साथियो को सोचना पड़ेगा और व्यापक जान समर्थन हासिल करके संगठित होकर अपने अधिकार को लेना पड़ेगा और जरुरत पड़ी ये सरकार न चेती तो 425 सांसदों को चुन कर पुरे देश के GDS साथियो को निर्वाचित करके संसद में भेजना होगा जिससे सारे साथियो को वाजिब हक़ मिल सके !

साथियो को एक एक रगिस्ट्री एक एक स्पीड पोस्ट साधारण पत्र व एक एक पैसे का हिसाब प्रतिदिन देना होता है

यदि भूल बस एक भि राजिस्त्री या स्पीड पोस्ट गलत बात जाये तो निलंबन तक की कार्यवाही इनके उपर होती है
और यदि पैसे के हिसाब में गड़बड़ी मिल जाये तो इनको जेल की हवा भी खानी पड़ेगी आजाद भारत में संबिधान
की प्रस्तावना का पहला अधिकार समानता का अधिकार साथियो को लोकतान्त्रिक दंग से हासिल करना पड़ेगा !
और इस देश की सरकार को यह बता देना होगा की पुरे देश के कोने कोने में पहुच रखने वाले ये GDS सर्दी
गर्मी और बर्शात में आम अवाम जनता की सेवा पुरे मनो योग से करते है हम सब पुन्हा केंद्र सरकार से एक जुट
होकर यह मांग करते है की हम लोगो का  बिभागीय कारण  किया जाये और साडी सुबिधाये मुहैया करायी जाये
जिससे बिना मानसिक तनाव से और बेहतर दंग सेवाओ को अंजाम दिया जा सके ! दर्द बहुत है साथियो जागो
उठो और अपनी बुनियादी अधिकार के लिए लड़ने का संकल्प लो ! जिससे कोने कोने में फैले साथियो का पुरसा हाल हो सके ! और अपने पाने जिले के सांसदों को अपनी मांग के लिए संसद में रखने के लिए प्रेरित करने का प्रयास करे हमारे कुछ साथी 70 वर्षो के शोषण से जल्दी छुटकारा पाना  चाहते है साथियो के अन्दर बहुत बेचैनी है हमारे कितने GDS साथी रिटायर्ड होकर के मर चुके है व कितने जिबित है एक एक पैसे के लिए लाचार  बने बैठे है
अब GDS ने ठाना है की वैसी लाचारी से अच्छा है रण छेत्र में सहीद हो जानेगे बिना अपना हक़  लिए मानने वाले नहीं है और केंद्रीय कमिटी के अगले आदेशो का कड़ी के साथ इस देश का GDS करेगा !

हम सब लाइन ओवर सीयर व इंस्पेक्टर के एक फरमान पर नंगे पाँव्व खड़े रहते है तो अपने अधिकार के लिए
उसी प्रकार उसी सिद्दत से खड़ा होबा पडेग ! जिससे हम सब अपना अधिकार हासिल कर सके !


Watch vidio :-





Related Posts
Previous
« Prev Post